इस सफर के दौरान ये केवल सीरिया और इराक को पार करने के लिए विमान से मिस्र पहुंचने के लिए एक ब्रेक लेंगे।

ग्रुप में शामिल जुनैद अफ़ज़ल ने बताया, “7 जून को, हम अपनी साइकिल से लंदन से रवाना हुए। हमने 4,000 किलोमीटर [2,485 मील] और 60-दिवसीय साइकिल यात्रा के बाद मदीना पहुंचने की योजना बनाई है।”

समूह के एक अन्य सदस्य ज़ैन लैम्बैट ने कहा कि यह उनका पहली बार हज यात्रा है, और कहा, “यह यात्रा कई मायनों में महत्वपूर्ण है।


हम अपने विश्वास के लिए सड़क पर हैं। हम सड़क के किनारे महान लोगों से मिलते हैं और हमारे पास बहुत अच्छी कहानियां हैं।

लंदन से 8 सदस्यों का ग्रुप साइकिल से निकला हज पर,ग़रीब मुसलमानों के लिए पैसे भी जुटायेंगे

सऊदी अरब के पवित्र शहर मक्का के लिए अंग्रेजी मुसलमानों का एक ग्रुप हज के मुक़द्दस सफर पर लंदन से साइकिल से चला है। ये ग्रुप 17 विभिन्न देशों में घूम कर सऊदी पहुंचेगा। 

“टूर डे हज” के तहत ये सभी अपने सफर के दौरान दुनिया भर में जरूरत मंद मुसलमानों के लिए पैसे जुटायेंगे। 

तुर्की के इस्तांबुल पहुँचने पर तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन के कार्यालय ने उनका स्वागत किया।


सदस्यों ने बताया, “हम हर जगह गए, तुर्की की मस्जिदें देखी, और हम अपने तुर्की भाइयों से मिले। उन्होंने हमें अविश्वसनीय आतिथ्य दिखाया। “