आमिर ने कंटेंट सलेक्शन और शानदार परफॉर्मेंस की बदौलत बॉक्स ऑफिस पर बेंचमार्क सेट किया है। देश ही नहीं विदेश में भी आमिर खान की तगड़ी फैन फॉलोइंग है।  
चीन में एक्टर की फिल्मों का डंका बजता है।  

आमिर खान कितने बड़े स्टार हैं ये हमें आपको बताने की जरूरत नहीं है। 14 मार्च 1965 को आमिर खान का जन्म मुंबई में हुआ।


आमिर ने अपने नाम को साकार किया है। पिता ताहिर हुसैन ने बेटे के जन्म से पहले उसका नाम आमिर सोच लिया था। आमिर का मतलब होता है - हमेशा अगुआई करने वाला। झंडा लेकर चलने वाला।

आमिर अपने परिवार के बहुत करीब रहे हैं। आमिर अपनी फैमिली को बहुत प्यार करते है। भले ही आमिर ने दो शादियां की हों।


लेकिन वो अपनी फैमिली को हमेशा ही आगे की ओर रखे रहे हैं। आमिर ने फिल्मी करियर फिल्म कयामत से कयामत तक से शुरू किया था। इस फिल्म के बाद आमिर ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

बॉलीवुड के सुपरस्टार आमिर खान आज अपना 54 वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रहे हैं। आमिर ने फिल्म ‘कयामत से कयामत तक’ से अपने बॉलीवुड करियर की शुरुआत की थी।


मिस्टर परफेक्शनिस्ट आमिर खान 54 साल के हो गए हैं।  वे बॉलीवुड में खास रुतबा रखते हैं. उनकी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर हिट की गारंटी रखती हैं।  ​

नायक के इर्द-गिर्द ही आखिर तक वे घूमती हैं और कहानी भले ही एक छोटी सी बच्ची की क्यों न हो (जैसे ‘बजरंगी भाईजान’) लेकिन फिल्म के अंत में उस बच्ची की जीत से ज्यादा अहम, और बड़ी जीत, नायक की होती है।  

 आमिर खान हिंदी सिनेमा के अकेले ऐसे दुर्लभ सुपरसितारे हैं, जो कहानी अगर मांगे, तो फिल्म के क्लाइमेक्स में खुद को पीछे रखकर लाइमलाइट में किसी दूसरे को आने भी देते हैं, और खुलकर छाने भी देते हैं।  

54वा जन्मदिन मुबारक-सुपरस्टार तो दर्जनों हुए हैं, लेकिन आमिर खान जैसा एक भी नहीं

आमिर खान  सबसे अलग हटकर एक अनूठा काम बरसों से कर रहे है।
 बाकी जितने भी सितारे इस तरह की फिल्में अब जाकर कर रहे हैं – या फिर वे सितारे जो बरसों से ऐसी फिल्में गाहे-बगाहे करते आए हैं - उनकी ये ‘कहानी-प्रधान’ फिल्में अंत तक ‘सितारा-केंद्रित’ ही रहती हैं।