NDA में कौनसी-कौनसी पार्टियां हैं?


सत्तारूढ़ एनडीए में बीजेपी, शिवसेना, अकाली दल, जद(यू), मिजो नेशनल फ्रंट, अपना दल, सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट, रामविलास पासवान की लोजपा, मेघालय की एनपीपी, पुदुचेरी की आईएनआरसी, नागालैंड की पीएमके, एआईएडीएमके और एनडीपीपी शामिल हैं.

छत्तीसगढ़ को लेकर बड़ी खबर आई है कि यहां बीजेपी बड़ी पार्टी बन सकती है. यहां कुल 11 सीटों में से एनडीए को 6 सीटें मिल सकती हैं.

यूपीए में कौनसी-कौन सी पार्टियां हैं?


यूपीए में कांग्रेस, राष्ट्रीय जनता दल, डीएमके, टीडीपी, शरद पवार की एनसीपी, जेडीएस, नेशनल कॉन्फ्रेंस, जेएमएम, आईयूएमएल, केरल कांग्रेस (मैनी) और आरएलएसपी शामिल हैं.

उत्तर प्रदेश में महागठबंधन आगे 


देश का मूड सर्वे के हिसाब से देखें तो यूपी में एनडीए को भारी नुकसान होता दिख रहा है।  यहां एनडीए को 80 में से 29 सीटें मिलती दिख रही हैं और महागठबंधन को 47 सीटें मिलती दिख रही हैं।  

पंजाब में कांग्रेस को बड़ा फायदा


एबीपी न्यूज-सी वोटर के सर्वे में सामने आया है कि पंजाब में कांग्रेस को बड़ा फायदा हो सकता है।  यहां कुल 13 लोकसभा सीटों में से 12 सीटों पर कांग्रेस कब्जा जमा सकती है।  

ABP न्यूज़-सी वोटर सर्वे: 543 लोकसभा सीटों में एनडीए को 264 सीटों पर, यूपीए को 141 सीटों पर और अन्य दलों को 138 सीटें पर जीत मिल सकती है।


कोई भी दल या गठबंधन बहुमत के जादुई आंकड़े 272 को छूने या पार करने की स्थिति में नहीं हैं।

मध्य प्रदेश में किसको कितनी सीटें?


सर्वे के मुताबिक, मध्य प्रदेश में लोकसभा की कुल 29 सीटें हैं. यहां बीजेपी नीत एनडीए को 24 सीटें और यूपीए को 5 सीटें मिल सकती हैं. मध्य प्रदेश में साल 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने 27 सीटों और कांग्रेस ने सिर्फ दो सीटों पर कब्जा किया था.

किसको कितनी सीटें?
सर्वे के मुताबिक, 543 लोकसभा सीटों में से एनडीए को 264 सीटों पर जीत मिल सकती है. वहीं यूपीए 141 सीटों पर अपना परचम लहराएगा और अन्य दलों को 138 सीटें मिलने की उम्मीद है.


यानि कोई भी दल या गठबंधन बहुमत के जादुई आंकड़े 272 को छूने या पार करने की स्थिति में नहीं हैं. याद रखने की बात है कि एनडीए जो 264 सीटें जीत सकता है,


उसमें बीजेपी का हिस्सा 220 होगा. इसी तरह यूपीए की झोली में जो 138 सीटें जा सकती हैं उसमें कांग्रेस का हिस्सा 86 सीटों का होगा.

पश्चिम बंगाल की स्थिति देखें तो यहां ममता बनर्जी की लहर बरकरार है. यहां की कुल 42 सीटों में से 34 सीटें टीएमसी के खाते में जाते दिख रही हैं और एनडीए को 8 सीटें मिलती दिख रही हैं.


वोट प्रतिशत देखें तो 41 फीसदी वोट शेयर टीएमसी को जाता दिख रहा है. वहीं 35 फीसदी वोट शेयर पर एनडीए कब्जा जमाता दिख रहा है. इसके अलावा यूपीए के खाते में 8 फीसदी वोट शेयर जाता दिख रहा है.

​​बिहार में देखें तो एनडीए को भारी फायदा होता हुआ दिख रहा है. एनडीए के खाते में 36 सीटें जाती दिख रही हैं. वहीं यूपीए को 4 सीटें जाती दिख रही हैं.

ABP न्यूज़-C Voter सर्वे: NDA बहुमत के करीब, लेकिन यूपी में BJP की राह मुश्किल