IMEI या इंटरनैशनल मोबाइल इक्विपमेंट आइडेंटिटी क्या है?

1 हर मोबाइल या स्‍मार्टफोन का आईएमईआई नंबर होता है।  

2.अपने फोन से #06# डायल कर अपने मोबाइल फोन का आईईएमआई नंबर पता कर सकते हैं।

3 .इस नंबर को हमेशा सुरक्षित जगह पर नोट कर लेना चाहिए। भविष्य में मोबाइल खोने या चोरी होने की स्थिति में  यह आपके काफी काम आता है।

4 .आप इस नंबर की मदद से अपना मोबाइल फोन ट्रैक कर सकते हैं।

5. आईएमईआई नंबर देखने के लिए हैंडसेट की बैटरी निकालकर फोन के पैनल में लगे स्टीकर से आईएमईआई नंबर देख सकते हैं।

चोरी हुआ एंड्राइड मोबाइल कैसे ट्रेस करें IMEI की मदद से

इंटरनेट पर कई वेबसाइट्स हैं जो आपको खोया या चोरी मोबाइल ढूंढने में मदद करते हैं, तो आप इन वेबसाइट्स की मदद ले सकते हैं। इसके लिए आपको मोबाइल सर्विलांस पर लगाने के लिए पुलिस के चक्कर भी नहीं काटने पड़ेंगे।


बस आपको इन साइट्स पर अपने फोन का आईएमईआई नंबर रजिस्ट्रेशन करना होगा।


सबसे पहले अपने फोन का आईएमईआई नंबर *#06# पर डायल कर नोट करा लें। इसके बाद नीचे दी गयी  वेबसाइट्स पर रजिस्ट्रेशन कराएं और खोजें अपना खोया हुआ गैजेट।

इसका मतलब यह है कि एक ही IMEI नंबर वाले दो डिवाइस भी हो सकते हैं। ये ऑपरेटर इस काम के लिए एक हैंडसेट के 200-500 रु तक लेते हैं।

हालांकि, ऐपल के हैंडसेट्स का IMEI बदलना असंभव है क्योंकि ये फ्लैशर आईफोन्स पर काम नहीं करते। हालांकि, इससे चोरों को कोई खास फर्क नहीं पड़ता। अधिकतर ऐपल फोन डिसमैंटल कर उनके पार्ट्स अलग-अलग कर के बेचे जाते हैं। 

IMEI या इंटरनैशनल मोबाइल इक्विपमेंट आइडेंटिटी एक 15 डिजिट नंबर होता है जो हर डिवाइस के लिए बिल्कुल अलग होता है। 

अब तक माना जाता रहा है कि इसके साथ छेड़छाड़ बिल्कुल भी संभव नहीं है। एक इंजिनियर के अनुसार सिर्फ 10 मिनट में IMEI नंबर की सेफ्टी का भ्रम तोड़ा जा सकता है।

एक बार IMEI नंबर बदला जाने के बाद फोन ट्रेस करना असंभव हो गया। 

हैकर्स सबसे पहले चोरी के हैंडसेट का पैटर्न अनलॉक करते हैं और उसके बाद फ्लैशर, ऑक्टोप्लस, वॉलकानो आदि सॉफ्टवेयर के जरिेए IMEI नंबर को बदल देते हैं

IMEI या इंटरनैशनल मोबाइल इक्विपमेंट आइडेंटिटी ट्रेस कैसे होता है और क्यों मुश्किल है?