जोधपुर में सैंट प्रेट्रिक स्कूल में ग्यारहवीं कक्षा में पढ़ने वाली अर्शी ने अपने दमदार पंच और तेज मूवमेंट का पूरा फायदा उठाते हुए स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया। 

अर्शी जोधपुर में विनोद आचार्य की प्रशिक्षु है। मुक्केबाजी संघ के सचिव पीएस शेखावत ने बताया कि पौलेंड में नौ से पंद्रह सितम्बर तक आयोजित 13वीं सिलेशियन अंतरराष्ट्रीय महिला मुक्केबाजी प्रतियोगिता में तेरह देशों के मुक्केबाजों ने भाग लिया।

जोधपुर की मुक्केबाज अर्शी खानम को यूरोप में स्वर्ण पदक जितने पर मुबारकबाद

जोधपुर की स्कूली छात्रा अर्शी ने अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी प्रतियोगिता में जीता स्वर्ण पदक


भारत की बेटी ने एशिया से बाहर यूरोप में जा कर हिन्दोस्तां का परचम लहराया है। 

राजस्थान के जोधपुर की अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाज अर्शी खानम ने यूरोप में आयोजित तेरहवीं सिलेशियन अंतरराष्ट्रीय महिला बॉक्सिग चैम्पियनशिप में भारत के लिए स्वर्ण पदक जीता है।

अर्शी खानम ने इसी वर्ष जनवरी मे सर्बिया में आयोजित सेवन्थ नेशन्स कप मे कांस्य पदक जीत कर राजस्थान का नाम रोशन किया था। 

ध्यान रहे कि अर्शी जोधपुर की एकमात्र मुक्केबाज है, जिसने अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में लगातार दूसरी बार भारत का प्रतिनिधित्व कर मैडल प्राप्त किया है। 

अर्शी के स्वर्ण पदक जीतने पर समस्त खेल जगत ने खुशी जाहिर की है।