मिडिल क्लास परिवार

एक मिडिल क्लास परिवार से आने वाले केसरानी के पिता एक प्राइवेट कंपनी में काम करते हैं। 


केसरानी का कहना है कि  'यह मेरा सपना था कि मैं बिना अपने पिता को पीजी मेडिकल कोर्स की फीस के भार में दबाए पढ़ाई कर सकूं।


मुझे खुशी है कि मैंने यह सपना पूरा कर लिया है।' केसरानी नई दिल्ली के मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज से MD करना चाहते हैं।

पेंचर लगानी वाली कौम अब पढ़ने लगी है। इसकी ताज़ा मिसाल 31 जनवरी 2019 को जारी हुए NEET परीक्षा परिणाम में देखने को मिली है। 


AIPG NEET में वडोदरा के अशरफ केसरानी ने पहली रैंक हासिल की है। केसरानी ने 1200 में से 1006 मार्क्स हासिल किए। अपने परिवार में डॉक्टर बनने वाल वह पहले शख्स हैं।

नीट के लिए एंट्रेस परीक्षा 6 जनवरी को हुई थी। परीक्षा में 1.48 लाख परीक्षार्थी बैठे थे। 


मेरी कौम बदल रही है....

नेशनल बोर्ड ऑफ एग्जामिनेशन द्वारा आयोजित डॉक्टर ऑफ सर्जन (Neet) के लिए नीट परीक्षा के परिणाम 31 जनवरी को देर से घोषित किए गए थे, 1200 मार्क की इस परीक्षा में वडोदरा के अशरफ केसरानी मेमन ने 1006 मार्क हांसिल करने के साथ भारत भर में पहला स्थान प्राप्त किया

मुबारकबाद -PG-NEET 2019 में वडोदरा के अशरफ केसरानी ने हासिल की पहली रैंक

AIPG NEET में वडोदरा के अशरफ केसरानी ने पहली रैंक हासिल की है। केसरानी ने 1200 में से 1006 मार्क्स हासिल किए।

देश में कुल 1.43 लाख छात्रों ने एग्जाम दिया था जिनमें से 78,660 स्टूडेंट्स क्वॉलिफाई करने में कामयाब रहे।