सोशल मीडिया पर एक पोस्‍ट वायरल हो रही है। इसमें दावा किया जा रहा है कि ऑस्ट्रेलिया के एक निवासी ने भारतीय प्रधानमंत्री से प्रभावित होकर अपनी सेब कंपनी का नाम ‘मोदी एप्पल’ रख लिया। असल में यह पोस्‍ट गलत है।


विश्‍वास टीम की जांच में पता चला कि इस ऑस्ट्रेलियाई कंपनी का नाम है तो ‘मोदी एप्पल’ मगर यह भारतीय प्रधानमंत्री के नाम पर नहीं, बल्कि इटालियन पेंंटर अमेदिओ मोदिग्लिआनी के नाम पर है।

गलत खबर-पीएम मोदी के नहीं, इटालियन पेंटर मोदिग्लिआनी के नाम पर है मोदी एप्‍पल का नाम

पड़ताल

इस पोस्ट की पड़ताल करने के लिए हमने इन दोनों दावों को जांचने का फैसला किया। हमने सबसे पहले ‘मोदी एप्पल’ को इंटरनेट पर सर्च किया। पहले पेज पर ही हमें ‘मोदी एप्पल’ का फेसबुक पेज और वेबसाइट दोनों मिल गए।

इस पोस्ट में 2 दावे किये गए हैं…

1) मोदी सेब का नाम भारतीय प्रधानमंत्री से प्रभावित होकर रखा गया। 
2) यह सेब जल्द ही भारत में भी मिलेगा।

पड़ताल........................

जब हमने ‘मोदी एप्पल’ के फेसबुक पेज के About us सेक्शन को खोला तो हमने पाया कि यहां साफ़-साफ़ लिखा है, “मोदी एप्पल का नाम कला की दुनिया से जुड़े अम्बेडो मोदिग्लिआनी के नाम पर रखा गया है।


अम्बेडो मोदिग्लिआनी लिवोर्नो में पैदा हुआ एक कलाकार थे जिनके दोस्त उन्हें प्यार से मोदी के नाम से बुलाते थे।”

क्‍या है वायरल पोस्‍ट में

वायरल हो रही पोस्ट में 4 फोटो शेयर किये जा रहे हैं जिसके साथ डिस्क्रिप्शन लिखा है – “मेलबॉर्न, ऑस्ट्रेलिया: नरेंन्द्र मोदी जी से प्रभावित फिलिपो ने अपने नए सेब के व्यवसाय को मोदी के नाम पर रखा। भारत के बाजारों में भी मिलेगा ये सेब। [😊] [🙏] ” 

निष्कर्ष:


पड़ताल में हमने पाया कि वायरल हो रही खबर गलत है। असल में इस ऑस्ट्रेलियाई कंपनी का नाम है तो मोदी एप्पल मगर यह भारतीय प्रधानमंत्री के नाम पर नहीं, बल्कि इटालियन चित्रकार अमेदिओ मोदिग्लिआनी के नाम पर है।