तीसरी बात

अगर आप इस आयुष्मान योजना से जुड़ना चाहते हैं, तो आपको कुछ दस्तावेज चाहिए। इसमें आधार कार्ड, निवास प्रमाण पत्र, राशन कार्ड और एक मोबाइल नंबर जरूरी है। लेकिन अगर आप इनमें से कोई भी दस्तावेज जमा नहीं करवाते हैं, तो आपका पंजीकरण रद्द हो सकता है।

'आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना-मुख्यमंत्री योजना', जिसके अंतर्गत पात्र लोगों के आयुष्मान कार्ड बनाए जाते हैं। इसके बाद कार्डधारक 5 लाख रुपये तक का अपना मुफ्त में इलाज करवा सकते हैं।


लेकिन अगर आपने अब तक कार्ड नहीं बनवाया है, और अब आप इस योजना से जुड़ने जा रहे हैं। तो पंजीकरण के समय आपको कुछ बातों का ध्यान रखना है, वरना आपका आवेदन रद्द भी हो सकता है।

दूसरी बात

आपको इस आयुष्मान कार्ड को बनवाने के लिए आवेदन फॉर्म भरना होता है, जिसके जरिए आप योजना से जुड़ पाते हैं। ध्यान रहे कि फॉर्म भरते समय इसमें कुछ गलती न करें और न ही कोई गलत जानकारी भरें। अगर आप ऐसा करते हैं, तो आपका पंजीकरण रद्द हो सकता है।

Ayushman Card: इन तीन बातों का जरूर रखें ध्यान, वरना आपका भी रद्द हो सकता है आवेदन

आयुष्मान कार्ड के लिए वो लोग आवेदन कर सकते हैं, जो भूमिहीन व्यक्ति हैं, जिसके परिवार में कोई दिव्यांग सदस्य है, अगर आप ग्रामीण क्षेत्र में रहते हैं, अगर आप अनुसूचित जाति या जनजाति से आते हैं, अगर आपका मकान कच्चा है, अगर आप दिहाड़ी मजदूरी करते हैं, अगर आप निराश्रित, आदिवासी, ट्रांसजेंडर आदि हैं।

पहली बात

सबसे पहले आपके लिए जरूरी है कि आप अपनी पात्रता चेक करें, क्योंकि हर कोई चाहता तो है कि उसका आयुष्मान कार्ड बने। लेकिन ये कार्ड सिर्फ पात्र लोगों का ही बन सकता है।