आज रात 1: 40 बजे पर मुफ्ती-ए-आज़म हिन्द के कुल शरीफ की रस्म अदा की जाएगी। वहीं कल बाद नमाज ए असर ताजुश्शरिया के कुल शरीफ की रस्म अदा होगी।


अजहरी मियां के उर्सको लेकर पूरे बरेली  शहर में हाई अलर्ट जारी किया गया है।

उर्स-ए-ताजुश्शरिया अजहरी मियां का आगाज आज सुबह बाद नमाजे फज्र दरगाह अजहरी मियां पर कुरानख्वानी की रस्म से हुआ।

बाद नमाज ए जौहर परचम कुशाई की रस्म अदा की गई। ऐसे में दरगाह आला हजरत पर बड़ी संख्या में जायरीन पहुंचे।

खुराफात की आशंकाओं के बीच पुलिस लगातार गश्त पर रही, ताकि कोई भी शरारत होने पर हालात तुरंत काबू में किए जा सकें।


संवेदनशील क्षेत्रों और सभी धार्मिक स्थलों पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए।

दरगाह आला हजरत की तरफ से लोगों से शान्ति बनाए रखने की अपील की गई है। बता दें कि मशहूर अल्लामा अख्तर रज़ा खां अजहरी मियां का उर्स ए ताजुश्शरिया दुनिया के कई मुुल्कों में मनाया जाएगा।


मदरसा मंजरे इस्लाम के वरिष्ठ मुफ्ती कफील ने बताया कि उर्से ताज़ुश्शरिया मदीने में कल मनाया जाएगा। वही अज़हरी मियां के मुरीद दमिश्क व इस्तांबुल शहर में उर्स मनाएंगे।

पहले उर्स-ए-ताजुश्शरिया अजहरी मियां का हुआ आगाज

बाद नमाज़-ए-जौहर उर्स-ए-ताजुश्शरिया के परचम कुशाई का जुलूस शाहबाद स्थित मिलन शादीहॉल से शान-ओ-शौकत से निकाला गया।


इसके अलावा आजमनगर और सैलानी से भी परचम निकाला गया। जिसमें हजारों लोग शामिल हुए। रास्ते भर ताजुश्शरिया जिंदाबाद के नारे लगाए गए।

इस्लामिया मैदान में उर्स की परमिशन निरस्त होने के बाद अब उर्स के सभी कार्यक्रम मथुरापुर में सम्पन्न होंगे। चादरों के जुलूस दरगाह पर ही आएँगे।