दिल्ली स्थित ब्रिटेन दूतावास में राजनीतिक व द्विपक्षीय मामलों के प्रमुख रिचर्ड बॉर्लो के नेतृत्व में गुरुवार को देवबंद पहुंचे प्रतिनिधिमंडल ने दारुल उलूम का भ्रमण किया।


उन्होंने संस्था के मोहतमिम से मुलाकात कर यहां दी जाने वाली शिक्षा व संस्था का इतिहास जाना।

ब्रिटिश दूतावास के अधिकारियों ने किया दारुल उलूम देवबंद का भ्रमण

इस दौरान रिचर्ड बार्लो ने कहा कि शेखुल हिद मौलाना महमूद हसन देवबंदी द्वारा भारत को आजाद कराने के लिए छेड़ी गई मुहिम रेशमी रुमाल तहरीक के बारे में उन्होंने पढ़ा है।


मोहतमिम ने कहा कि दारुल उलूम शिक्षा के साथ-साथ अमन और भाईचारे का पाठ पढ़ाता है।


बाद में दूतावास के अधिकारियों लाइब्रेरी के अलावा मस्जिद रशीद व अन्य इमारतों का भ्रमण किया। तंजीम-ओ-तरक्की विभाग के उपप्रभारी अशरफ उस्मानी ने उन्हें भ्रमण कराया।

गुरुवार को दारुल उलूम पहुंचे ब्रिटेन दूतावास के अधिकारियों रिचर्ड बार्लो और पारुल मल्होत्रा ने संस्था के अतिथिगृह में मोहतमिम मुफ्ती अबुल कासिम नोमानी व नायब मोहतमिम मौलाना अबुल खालिक मद्रासी और मौलाना संभली से मुलाकता की।