उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले के बेहटा गांव में सोमवार को गोकशी की घटना के बाद दूसरे दिन सुबह तालाब के पास मांस से भरी बोरी मिलने से आक्रोश फैल गया।


जानकारी होते ही कई गांवों से लोग एकत्र हो गए और पास के मदरसे में तोडफ़ोड़ करते हुए आग लगा दी।

बेहटा गांव में सोमवार को गोकशी की घटना के बाद से तनाव की स्थिति बन गई थी। इसके चलते गांव में रात को पुलिस बल तैनात कर दिया गया था।


मंगलवार की सुबह तालाब की ओर गई महिलाओं ने मांस से भरी बोरी पड़ी देखी।

ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मांस से भरी बोरी बरामद कर ली। गोकशी की जानकारी होते ही उरदौली, शाहबाजपुर, खंझाहालपुर, फरीदपुर, धानेमऊ, गौरी आदि गांव से बड़ी संख्या में लोग बेहटा गांव आ गए।

मदरसे के अंदर एक कमरे से गोवंश का सिर व मांस मिलने से भीड़ का गुस्सा बढ़ गया। भीड़ ने मदरसे में तोडफ़ोड़ करते हुए आग लगा दी।


क्षेत्र में तनाव का माहौल व्याप्त होने और हालात बेकाबू होने पर पुलिस ने उच्चाधिकारियों को जानकारी दी।

ग्रामीणों ने पुलिस से गोकशी करने वालों को गिरफ्तारी न किये जाने को लेकर विरोध जताया और पास के मदरसे में गोमांस रखा होने की बात कही। इसके बाद भीड़ ने मदरसे में धावा बोल दिया।

फतेहपुर में गोकशी पर बवाल, भीड़ ने मदरसे में तोड़फोड़ के बाद लगाई आग

डीएम व एसपी गांव में मार्च करके लोगों को शांत करने का प्रयास कर रहे हैं। गांव में तनाव का माहौल बना है।


पुलिस ने गोकशी के मामले में मुस्ताक व मुन्नू शाह के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। दोनों फरार आरोपितों की तलाश के लिए पुलिस दबिश दे रही है।

सूचना मिलते ही फोर्स लेकर एसपी और डीएम गांव पहुंच गए और लोगों से बातचीत करके स्थिति को नियंत्रण में करने का प्रयास शुरू किया।