माधुरी गुप्ता पर फोन पर इमेल के जरिए आइएसआइ के दो अधिकारियों मुबशर राजा राणा और जमशेद के संपर्क में रहने का आरोप था।


चार्जशीट में जमशेद के साथ माधुरी के अफेयर होने की भी बात कही गयी है।

पूर्व राजनयिक माधुरी गुप्ता पाकिस्तान के लिए जासूसी में दोषी क़रार

माधुरी को दिल्ली पुलिस की विशेष शाखा ने 22 अप्रैल, 2010 को पाकिस्तानी अधिकारियों के साथ संवेदनशील जानकारी साझा करने और आईएसआई के दो अधिकारियों मुबशर रज़ा राणा और जमशेद के संपर्क में रहने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया था।  

इस जुर्म में अधिकतम तीन साल की सज़ा या जुर्माना या दोनों का प्रावधान है।  वह पहले ही 21 महीने की सजा काट चुकी हैं और अब 19 मई को दोनों पक्षों के वकील सजा कितनी होनी चाहिए इस पर बहस करेंगे।  

दिल्ली की पटिलाया हाउस कोर्ट ने पूर्व डिप्लोमैट माधुरी गुप्ता को पाकिस्तान में नियुक्ति के दौरान ISI को भारत की खुफिया जानकारियां देने का दोषी करार दिया है।  गौरतलब हे कि माधुरी इस्लामाबाद स्थित भारतीय उच्चायोग में तैनात थीं।  

भारतीय उच्चायोग में सेकंड सेक्रेटरी (प्रेस एंड इंफॉर्मेशन) रहीं माधुरी गुप्ता को सरकारी गोपनीयता अधिनियम की धारा तीन और पांच के तहत दोषी ठहराया गया है।