अगर ये दोनों आपके पास हैं तो फिर आप सीधे चुनाव आयोग की वेबसाइट HTTPS://WWW.NVSP.IN को ओपन करें. इस लिंक को ओपन करते ही आपके सामने ऊपर की तस्वीर में दिखाए ऑप्शन दिखेंगे।  

घर बैठे आसानी से बनवाएं वोटर Id कार्ड लोकसभा चुनाव से पहले

भरें FORM 6

नए वोटर आईडी कार्ड बनवाने के लिए (FORM 6) वाले ऑप्शन पर क्लिक करें। जिसके बाद आपको ऑनलाइन फॉर्म-6 को भरना होगा. इसे सावधानी से भरने की जरूरत होती है. इसमें दी गई जानकारी के आधार पर ही वोटर आईडी कार्ड बनता है।  

इसलिए इस फॉर्म में नाम, पता, जन्मतिथि, माता-पिता का नाम वगैरह सही से भरें. वैसे अप्लाई करने के 15 दिन बाद तक आप ऑनलाइन बदलाव कर सकते हैं।  

डॉक्यूमेंट्स की स्कैन कॉपी करें अपलोड

जब पूरी तरह से FORM 6 भर देंगे तो उसके बाद आपको अपना पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ और वोटर आईडी कार्ड के लिए एड्रेस प्रूफ, आईडी प्रूफ में अलगअलग डॉक्यूमेंट्स की कॉपी अपलोड करनी पड़ेगी।  

इसके लिए आप आधार कार्ड, पासपोर्ट, 10वीं की मार्कशीट, बर्थ सर्टिफिकेट, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, बैंक की पासबुक, फोन/पानी/बिजली/गैस का बिल और इनकम टैक्स का फॉर्म 16 में से किन्हीं दो डॉक्यूमेंट्स की स्कैन कॉपी को अपलोड करना होगा।  

जिसके बाद चुनाव आयोग की ओर से आपको एक Reference ID दिया जाएगा, जिसके जरिये आप ऑनलाइन फॉर्म की स्टेट्स चेक कर सकते हैं।  

अगर आपके पास वोटर आईडी कार्ड नहीं है तो सबसे पहले हम आपको स्टेप-बाय-स्टेप ये बताने जा रहे हैं कि कैसे घर बैठे ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं। 
 
ऑनलाइन वोटर आईडी कार्ड बनवाने से पहले आपके पास पर्सनल ईमेल आईडी और मोबाइल नंबर जरूर होना चाहिए।  

अप्लीकेशन की ऑनलाइन स्थिति की ऐसे करें जांच

ऑनलाइन अप्लाई के साथ आप अपने अप्लीकेशन की स्थिति भी देख सकते हैं, इसके लिए आपको Track Your Appliction पर क्लिक करना होगा।  

जहां आपको (Enter reference id) डालना होगा. Reference ID डालते ही फॉर्म की स्थिति बता दी जाती है कि अभी आपका अप्लीकेशन वैरीफिकेशन के लिए BLO तक पहुंचा है या नहीं. जैसे-जैसे प्रक्रिया आगे बढ़ेगी, यहां आपको स्टेट्स में बदलाव दिखेगा।  

BLO करेगा आपसे संपर्क


FORM 6 ऑनलाइन सबमिट करने के 15 दिन बाद आपके इलाके का बूथ लेवल ऑफिसर (BLO) आपके द्वारा ऑनलाइन सबमिट डॉक्यूमेंट्स की जांच के लिए आपके घर आएगा।
 
वो आपसे जांच के लिए ओरिजनल डॉक्यूमेंट्स दिखाने के लिए कहेंगे। डॉक्यूमेंट की जांच हो जाने के बाद BLO की तरह से वोटर आईडी कार्ड बनाने के लिए चुनाव आयोग को जानकारी दे दी जाएगी।