नन्ही जेनहा की मोदी-इमरान से शांति की अपील, तीन महीने बाद कश्मीर में आज खुले स्कूल

कश्मीर में ही नहीं जम्मू संभाग में भी पाकिस्तान की गोलाबारी के कारण नियंत्रण रेखा और अंतरराष्ट्रीय सीमा के साथ पांच किलोमीटर के दायरे के भीतर आने वाले सैकड़ों स्कूलों को भी बंद कर दिया जाता है।


इस बार भी फरवरी महीने के अंत में स्कूल कई दिनों तक बंद रहे। हर साल इन स्कूलों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों की पढ़ाई इससे प्रभावित होती है।

नन्ही जेनहा की मोदी-इमरान से शांति की अपील, तीन महीने बाद कश्मीर में आज खुले स्कूल

सर्दियों की छुट्टियों के कारण बंद हुए स्कूल तीन महीने बाद आज खुले। इसे लेकर कश्मीर के विद्यार्थियों में उत्साह भी दिखा।


बांडीपोरा की नन्हीं छात्रा जेनहा जेवार स्कूल खुलने पर इतनी खुश है कि उसने भारत और पाकिस्तान दोनों के प्रधानमंत्रियों से शांति बनाए रखने की अपील कर दी है।


उसने अपील करता अपना एक वीडियो सोशल साइट फेसबुक पर डाला है।

उत्तरी कश्मीर के बांडीपोरा की रहने वाली इस नन्हीं छात्रा जेनहा की इस मासूम अपील को सोशल मीडिया पर काफी पसंद किया जा रहा है। सैकड़ों लोग इसे शेयर कर चुके हैं।

इन हालात से सबसे अधिक बच्चों को ही भुगतना पड़ता है। उनकी पढ़ाई प्रभावित होती है। इसीलिए दोनों देशों के प्रधानमंत्री शांति बनाए रखें।

गौरतलब है कि सर्दियों की छुट्टियों के बाद पहले एक मार्च को स्कूल खुलने थे। स्टाफ को 25 फरवरी से ही स्कूलों में बुला लिया गया था। लेकिन स्कूल एक बार पहले पांच मार्च और फिर दस मार्च तक बंद हो गए। अब सभी स्कूल सोमवार को खुलने जा रहे हैं।

अपने 46 सेकेंड के वीडियो में उसने स्कूल खुलने पर खुशी जताते हुए कहा कि उसे उम्मीद है कि अब सर्दियों की छुट्टियां और नहीं बढ़ेंगी और कोई भी स्ट्राइक नहीं होगी।