इस्लामिक मदरसा आधुनिकीकरण शिक्षक एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष एजाज अहमद ने बताया कि 34 माह से केंद्र की और से मानदेय नहीं मिल रहा है।


शिक्षक बड़ी मुसीबत में है। उनके परिवार भुखमरी का सामना कर रहे है। इलाज कराने के लिए भी पैसे नहीं है। लोगों ने अब उधार तक देना बंद कर दिया है।

इससे पहले ये सभी मदरसा शिक्षक जंतर-मंतर पर भी प्रदर्शन कर चुके है। 


एजाज अहमद ने कहा कि इस सबंध में दो बार HRD मिनिस्टर प्रकाश जावड़ेकर जी से भी मुलाक़ात हो चुकी है।


उन्होने न केवल बकाया मानदेय देने बल्कि मानदेय बढ़ाने का भी आश्वासन दिया था।

नई दिल्ली: बीते 34 माह के बकाया मानदेय को लेकर दर-दर भटक रहे मदरसा शिक्षकों ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय पर गुरुवार को धरना दिया।


इस दौरान एक प्रतिनिधिमंडल ने अधिकारियों से भी मुलाक़ात की। अधिकारियों ने एक सप्ताह में समस्या के निराकरण का आश्वासन देकर लौटा दिया।

मदरसा शिक्षकों का बकाया मानदेय मिलने पर धरना, फिर मिला आश्वासन

एजाज अहमद ने कहा कि मंत्री महोदय के आदेशों की अवहेलना कर कर्मचारी मानदेय नहीं दे रहे है।


हालांकि अब एक बार फिर से एक सप्ताह में मानदेय अदायगी की बात कही गई है।


उन्होने कहा कि अगले सप्ताह तक वेतन नहीं मिला तो अधिकारियों के घरों के सामने प्रदर्शन किया जाएगा।