सऊदी अरब के पूर्वी क्षेत्र अहसा में जहां जवाथा मस्जिद को कई बार बहाल किया गया था, क्योंकि रेत लगातार इसे कवर कर रहा था।
माना जाता है कि इस मस्जिद को पूर्वी प्रांत में बनाया गया पहला मस्जिद है जहां इस्लाम की दूसरे जुमे की नमाज अदा हुई थी। मदीना में पहली बार जुमे की नमाज अदा की गई थी और दूसरी बार इसी मस्जिद में जुमे की नमाज अदा हुई थी।  

अहसा में प्राधिकरण के प्रमुख खालेद अल-फ़रीदा ने बताया कि मस्जिद को कई बार बहाल किया गया था, और कहा कि सबसे महत्वपूर्ण काम 1210 हिजरी में किया गया था।


उन्होंने कहा कि पहली बार पर्यटन प्राधिकरण के लिए 1400 हिजरी में बहान किया गया था।

रियाद : टुरिज्म और नेशलन हेरिटेज के सऊदी कमीशनर ने ऐतिहासिक जवाथा मस्जिद को बहाल किया है, जहां इस्लाम में दूसरी जुमे की नमाज अदा हुई थी। 
उसके बाद रेत ने इसे कवर कर लिया था। 

हाल ही में चार पाया कॉलम तैयार किया गया था जो की मस्जिद की पुरानी नींव में हैं। मस्जिद को अब पूरी तरह से फर्नीश किया कर दिया गया है।

पूर्वी प्रांत के गवर्नर सऊद बिन नयफ ने आधिकारिक तौर पर मस्जिद का उद्घाटन किया था जब प्राधिकरण ने अपने काम समाप्त कर दिए थे।

जानिए उस मस्जिद के बारे में जहां इस्लाम में दूसरी जुमे की नमाज अदा हुई थी