मेरठ के हरिनगर में हरिनगर में दीपक और मनोज दो भाई रहते हैं। दीपक ने अपने हिस्से के मकान का सौदा पूर्वा इलाही बक्श के नौशाद से नौ लाख में कर दिया था।

  
मुसलमान को मकान बेचने पर हंगामा हो गया। कालोनी के लोग विरोध जताते हुए थाने पहुंच गए। पुलिस के हस्तक्षेप पर मकान की खरीद-फरोख्त स्थगित हुई।

मकान बिकाऊ प्रकरण को लेकर तत्काल अफसर तक हरकत में आ गए। इंस्पेक्टर रघुराज प्रताप ने दीपक और नौशाद को थाने बुलाया। नौशाद को मकान खरीदने पर रोक लगा दी है।


दीपक को कहा गया कि वह मकान अपने समुदाय के लोगों को बेच सकता है। पुलिस के मामला निपटाने के बाद दोनों पक्षों के लोग थाने से चले गए।

मेरठ के हरिनगर में मुसलमान को मकान बेचने पर हिन्दू निवासियों किया हंगामा

सोमवार को नौशाद बयाना देने के लिए दीपक के घर पर पहुंचा था। तभी मोहल्ले के लोगों ने नौशाद को घेरकर हंगामा कर दिया। 

मोहल्ले के लोगों ने बताया कि मुस्लिम समुदाय का परिवार कैसे रहेगा। इसी को लेकर मोहल्ले के मंजू शर्मा, मुकेश, कुलदीप समेत काफी संख्या में लोग थाने पर पहुंच गए।


उन्होंने एलान कर दिया कि किसी भी मुस्लिम परिवार को मोहल्ले में प्रवेश नहीं देंगे।

एसपी सिटी अखिलेश नारायण ने कहा कि ''नौ लाख में दीपक ने मकान का सौदा दूसरे संप्रदाय के नौशाद से किया था। मोहल्ले के लोगों के विरोध करने पर सौदा टूट गया।


अब नौशाद उक्त मकान को नहीं खरीदेगा। दीपक अपने समुदाय के लोगों को मकान बेच सकता है''।