इस लॉन्चिंग कार्यक्रम में देश के जाने माने वकील, सामाजिक कार्यकर्ता, प्रोफेसर्स और वरिष्ठ पत्रकारों ने अपनी बात रखी और इस टोल फ्री हेल्पलाइन सेवा को सराहा गया।  

दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर, अपूर्वानंद ने कहा कि हिन्दुस्तान की हकीकत यह है कि हर रोज़ इस तरह की घटनाएं हो रही हैं।


संसद और मीडिया इस पर बात करे क्योंकि  मुसलमान, ईसाई और दलितों पर लगातार हिंसा हो रही है।  

इस हेल्पलाइन सेवा का परिचय कराते हुए यूनाइटेड अगेंस्ट हेट के नदीम ख़ान ने कहा कि


“भीड़ द्वारा किए जाने वाले हमलों, लिंचिंग और नफ़रती हमलों  को देखते हुए हम एक टोल फ्री हेल्पलाइन शुरू कर रहे हैं।


ये हेल्पलाइन पीड़ितों का पक्ष जानने और उन्हें अदालतों में न्याय दिलाने के लिए शुरू की जा रही है। 

मॉब लिंचिंग के ख़िलाफ़ लॉन्च हुआ टोल फ्री नंबर ,जाने कैसे मिल सकेगी तुरंत मदद 

देशभर में हो रही मोब लिंचिंग को लेकर दिल्ली की एक संस्था यूनाइटेड अगेंस्ट हेट की ओर से आज दिल्ली प्रेस क्लब में एक टोल फ्री नंबर 1800-3133-60000 को लॉन्च किया गया है।  

हेल्पलाइन सेंटर का उद्देश्य , भीड़ की हिंसा का शिकार लोगों को त्वरित न्याय दिलाने में मदद करना करना है।  

डॉक्टर कफ़ील ने आरएसएस को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा कि यह लोग नफ़रत की बीज बोने का काम कर रहे हैं। धर्म के नाम पर लोगों को मारा जाना बहुत निंदनीय है।  

फादर माइकल विल्लिएम फाउंडर अध्यक्ष, माइनॉरिटी क्रिस्चियन फोरम ने कहा कि यह एक अच्छी कोशिश है। ईसाईयों को भी निशाना बनाया गया और देश भर में कई घटनाएं हुईं हैं।