आगरा में गुड़ की मंडी का शबीना गंगा-जमुनी तहजीब की मिसाल है।


शनिवार की रात पांच दिन का शबीना पूरा होने पर सड़क पर मुस्लिम समाज के लोगों ने तरावीह पढ़ीं तो हिंदुओं ने सड़क रोककर सुरक्षा का जिम्मा उठाया। 

हिंदुओं ने की साफ सफाई


बाजार के हिंदू भाई गुड़ की मंडी बाजार की साफ-सफाई में मदद करते हैं। जब तरावीह शुरू हो जाती हैं तो चौराहा और आवागमन के रास्ते को रोककर खड़े हो जाते हैं, ताकि कोई खलल न पड़े।


समी आगाई ने बताया कि यहां हरेक जाति और धर्म के लोग एकजुट होकर शबीना पूरा होने तक हिफाजत करते हैं। हर संभव मदद करते हैं। 

गुड़ की मंडी में रमजान का चांद होने के साथ ही तरावीह शुरू होती है। यहां सड़क पर तरावीह पढ़ाई जाती हैं।


इसमें सैकड़ों मुसलमान कुरान सुनने के लिए आते हैं। पांच दिन चला यह शबीना शनिवार को पूरा हो गया। 

मिसाल: चर्च में वजू कर रोजेदारों ने पढ़ी नमाज, हिंदू-ईसाई भाइयों ने संभाली व्यवस्थाएं

शबीना में कुरान को हाफिज हिसाम उद्दीन उर्फ मुन्ना ने सुनाया। शबीना कराने वाले सैयद इरफान सलीम ने बताया कि हर बार पांच दिन का शबीना होता है। इसमें मुस्लिमों के अलावा हिंदू और ईसाई भी मदद करते हैं। हॉस्पिटल रोड पर बने सेंट जोंस चर्च कैंपस में हजारों लोगों के वजू का इंतजाम किया जाता है।