सना और उनकी बहनें अपने परिवार की पहली पीढ़ी हैं, जिन्होंने 12वीं पास की है। सना के पिता मटिया महल के मशहूर अल-जवाहर रेस्त्रा में शेफ (बावर्ची) और मां हाउस वाइफ हैं। 


सना ने 12वीं में कोई ट्यूशन नहीं ली और पढ़ाई में उन्हें जब भी मदद की ज़रूरत पड़ी, उन्होंने अपनी बड़ी बहनों से मदद ली।  

सना ने जामा मस्जिद के केंद्रीय विद्यालय नंबर 2 से 12वीं की है।  सना की पढ़ाई उर्दू मीडियम से हुई है और इस स्कूल से पढ़ाई करने वाली, वो अपनी बहनों में चौथी हैं। 


उर्दू मीडियम से पढ़ने वाली सना ने 97.6% नंबर पाए हैं और दो साल पहले सना की बहन उमरा ने भी 12वीं में टॉप किया था।  

बावर्ची की बेटी सना  नियाज़ ने  दिल्ली के सरकारी स्कूलों को सभी छात्र छात्राओं को पीछे छोड़ टॉप किया है।


सीबीएसई 12वीं की परीक्षा में चांदनी चौक की रहने वाली सना ने 97.6 फीसदी अंक लाकर दिल्ली के सरकारी स्कूलों में टॉप किया है।  

12वीं में सना के सब्जेक्ट्स हिस्ट्री, पॉलिटिकल साइंस, होम साइंस, इंग्लिश और उर्दू थे।सना अब आगे पढ़ाई के लिए दिल्ली यूनिवर्सिटी के सेंट स्टीफंस कॉलेज से B.A. PROG कोर्स करना चाहती हैं।  
बीए के साथ-साथ ही वह सिविल सर्विस एग्जाम की तैयारी करना चाहती हैं।  

मुबारकबाद- बावर्ची की बेटी सना नियाज़ बनी 12वीं में दिल्ली के सभी सरकारी स्कूलों की टॉपर