छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित कांकेर जिले में गुरुवार को बीएसएफ के जवानों पर नक्सलियों ने घात लगाकर हमला किया।

इस घटना में चार जवान शहीद हो गए। जिसमे धनबाद के झरिया इलाके के साउथ गोलकडीह निवासी मो. इसरार खान भी शामिल है।

सुबह लगभग सवा नौ बजे बीएसएफ के डिप्टी कमांडेंट घनश्याम कुमार मिश्रा व सब इंस्पेक्टर अनिल कुमार सिंह समेत 17 जवान बीएसएफ के वाहन से शहीद मो. इसरार का शव लेकर साउथ गोलकडीह आवास पहुंचे। शव पहुंचते ही क्षेत्र देश भक्ति के नारों से गूंज उठा। 


इसरार की शहादत ने उनके परिवार ही नहीं, बल्कि झरिया और धनबाद के लोगों को भी झकझोर दिया है।

शहीद इसरार -नक्सलियों के हमले में शहीद को नम आंखों से दी गई आखिरी विदाई

शहीद इसरार -नक्सलियों के हमले में शहीद को नम आंखों से दी गई आखिरी विदाई

बीएसएफ जवान इसरार का पार्थिव शरीर शनिवार को होरलाडीह कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक किया गया। इस माैके पर उन्हें विदाई देने के लिए हजारों की संख्या में भीड़ उमड़ पड़ी। सबने नम आंखों से शहीद को विदाई दी।