दोनों के बीच किसी बात को लेकर बहस हुई, जिसके बाद ही महिला अपने तीनों बच्‍चों के साथ नदी क‍िनारे गई और पहले खुद बच्‍चों को धक्‍का दिया और फिर छलांग लगा दी।

नदी के तट से आई मासूम की रोंगटे खड़े कर देने वाली तस्‍वीर,सीरियाई बच्चे की याद दिलाई

मुजफ्फरपुर के डीएम आलोक रंजन घोष ने मामले में स्‍पष्‍टीकरण देते हुए कहा कि स्‍थानीय लोगों से बातचीत व शुरुआती जांच के बाद जो तथ्‍य सामने आया है, वह ये है कि महिला की उसके पति से उस दिन फोन पर बात हुई, जो पंजाब में रहता था। 

बिहार में उफनती नदी के किनारे से एक बच्‍चे की मार्मिक तस्‍वीर सामने आई है और मासूम की तुलना सीरियाई बच्‍चे एलन कुर्दी से भी की जा रही है। 


दर्दनाक तस्वीर मुजफ्फरपुर जिले से आई है जहां मां रानी देवी और उनके चार बच्चे बुधवार सुबह बागमती नदी में नहाने गए थे और पानी में बह गए थे।

लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका, बल्कि उस महिला के दो अन्‍य बच्‍चों की भी जान चली गई। ग्रामीणों की मदद से केवल महिला व उसकी बेटी को ही बचाया जा सका।

यह घटना मुजफ्फरपुर जिले के शीतलपट्टी गांव की बताई जा रही है। रिपोर्ट्स के अनुसार, यहां एक महिला कपड़े धोने नदी किनारे गई थी। उसके चार बच्‍चे भी साथ थे।


तभी एक बच्‍चा फिसलकर नदी में जा गिरा, जिसे बचाने के लिए मां और उसके तीन अन्‍य भाई-बहनों ने भी नदी में छलांग लगा दी। 

सोशल मीडिया पर बच्‍चे की तस्‍वीर सामने आने के बाद अब इस मुद्दे पर प्रदेश में सियासत भी गरमा गई है। विपक्षी राष्‍ट्रीय जनता दल ने मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार की सरकार को कठघड़े में करते हुए कहा कि सरकार के पास संवेदना तक नहीं बची है। 

उन्‍होंने यह भी कहा कि चूंकि बिहार के कई हिस्‍से बाढ़ की चपेट में हैं, इसलिए इस घटना को बाढ़ से जोड़कर देखा जा रहा है, जबकि यह सच नहीं है।


उन्‍होंने बताया कि महिला का पति पंजाब से लौट आया है, जिससे पूछताछ की जाएगी।