अन्य एंटीक सामग्री में एक सोने से जड़ी तलवार और सस्पेंशन बेल्ट पहनावा, टीपू सुल्तान की निजी तलवारों में से एक माना जाता है, जिसे 18,500 पौंड आए। 
 विजेता बोलीदाता से पहले इसके लिए 58 बोलियां लगाई गईं। 

इंग्लैंड में हुई टीपू सुल्तान की चांदी जड़ी बंदूक की नीलामी, 54.74 लाख रुपए में बिकी

ब्रिटेन के बर्कशायर में हुई एक नीलामी में टीपू सुल्‍तान के अस्त्र-शस्त्रों का बोलबाला रहा। इन अस्त्र-शस्त्रों में टीपू की चांदी जड़ित बंदूक और सोने की तलवार शामिल हैं, जिनकी नीलामी कुल 107,000 पौंड में हुई।

इस संग्रह में 14 बोलियां चांदी जड़ी 20 बोर वाली बंदूक की लगी और टीपू की इस बंदूक की नीलामी 60,000 पौंड (54.74 लाख रुपए) में हुई।  

20-बोर फ्लिंटलॉक बंदूक चांदी से सुसज्जित है. ये मैसूर के अंतिम शासक के व्यक्तिगत शस्त्रागार में शाम‍िल रही है।


इसकी नीलामी बेहद लोकप्रिय साबित हुई और इसने 60,000 पाउंड जुटाए और इस बंदूक के लिए 14 बोलियां लगाई गईं थी।  

इस बंदूक के उल्लेख नोट में लिखा है कि संभवत: इस बंदूक को सीधे युद्धक्षेत्र से ही उठाया गया होगा, क्योंकि यह बुरी तरह से क्षतिग्रस्त है।


बंदूक के बाद सबसे ज्यादा 58 बोली स्वर्ण अलंकृत तलवार की लगी, जिसे करीब 18,500 पौंड (16 लाख रुपए) में खरीदा गया।