मस्जिद का उदघाटन गुरुवार की सुबह फज्र की आज़ान देने के साथ हुआ। इस दौरान बड़ी संख्या में नमाज़ी पहुंचे थे। पूर्व प्रधानमंत्री बिन अली येल्दरीम सहित अनेक अधिकारियों ने भी हिस्सा लिया। वह इसी महीने के अंत में इस्तांबूल में होने वाले चुनावों में मेयर पद के उम्मीदवार हैं।

इस्तांबूल में गुरुवार को तुर्की की सबसे बड़ी मस्जिद का उदघाटन किया गया। इस मस्जिद में एक साथ 60 हज़ार लोग नमाज़ अदा कर सकते हैं।


मस्जिद का निर्माण उसमानी शासनकल की वास्तुकला के आधार पर किया गया है।

तुर्की की सबसे बड़ी मस्जिद का उदघाटन, 60 हज़ार लोग अदा करेंगे एक साथ नमाज

मस्जिद में 6 मीनार हैं जिनमें चार की ऊंचाई 107 मीटर से भी अधिक है जबकि दो मीनारों की ऊंचाई 90 मीटर है। इसके मुख्य गुंबद की ऊंचाई 72 मीटर है और इसका व्यास 34 मीटर है।

मीनार की ऊंचाई 107 मीटर इसलिए रखी गई है कि इसमें वर्ष 1071 में ब्रिटेन और तुर्कों के बीच होने वाले युद्ध में तुर्कों की विजय की ओर इशारा है।

इस मस्जिद का निर्माण इस्तांबूल में एक ऊंचे टीले पर किया गया है। मस्जिद इस तरह से बनाई गई है कि यह इस्तांबूल शहर की पहचान बन जाए।


मस्जिद का निर्माण 15 हज़ार वर्गमीटर के भूभाग पर किया गया है। मस्जिद में कान्फ्रेन्स हाल, इस्लामी अवशेषों का संग्रहालय, एक पुस्तकालय तथा एक थिएटर हाल भी बनाया गया है।