ड्राई बैटरी सेल और डिजीटल मीटर का इस्तेमाल किया गया है। जिससे 20 रुपये की बिजली में एक बार चार्ज होने के बाद यह सौ किलोमीटर तक चलती है। 

इसका मसल्स लुक विदेशी मोटरसाइकिलों की तरह है। इस तरह की विदेशी बाइक्स की कीमत 20 लाख से शुरू होती है। 

मोदी बाइक की सबसे बड़ी खूबी यह है कि इस बाइक से स्टंट नहीं किए जा सकते हैं। इसलिए पेरेंट्स बेफिक्र होकर अपने लाड़ले को यह बाइक दे सकते हैं।

इस बाइक का रख-रखाव भी बेहद आसान है और महज़ एक एप की मदद से घर में ही इसकी सर्विस की जा सकती है। बाइक में ड्राई बैटरी का इस्तेमाल किया गया है।


वकार ने 2 महीने की कड़ी मेहनत और सतत परिश्रम से इस बाइक को बनाया है।

वकार का कहना है कि ये बाइक एक बार फुल चार्ज करने पर तकरीबन 100 किलोमीटर तक की दूरी आसानी से तय कर सकती है। सबसे खास बात ये है कि एक इलेक्ट्रिक बाइक होते हुए भी इसकी रफ्तार काफी बेहतर है।

इस बाइक में वकार ने रिजेनरेटर मोटर का प्रयोग किया है और इसे आसानी से लैपटॉप के चॉर्जर से भी चार्ज किया जा सकता है। साथ ही बाइक ड्राइविंग के दौरान किसी भी तरह का अनावश्यक आवाज और वाइब्रेसन नहीं करती है। 

वकार के परिवार की माली हालत बाकी गरीबों जैसी है, लेकिन अल्लाह ने वकार को जीनियस ब्रेन बख्शा है।


जिसके बलबूते वकार पहले दिल्ली इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी के टॉपर बने और अब उन्होंने एक शानदार इलेक्ट्रिक बाइक ईजाद कर डाली है।

मेरठ के इंजीनियर वकार अहमद ने बनाई मोदी बाइक, 150 किमी की रफ्तार से भरती है फर्राटा

Waqar-Ahmed-prepared-a-electric-bike-in-meerut

मेरठ में रहने वाले ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग के इस जीनियस छात्र ने एक इलेक्ट्रिक बाइक बनाई है, जो डेढ़ सौ किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से फर्राटा भरती है।


इस छात्र ने इस बाइक का नाम मोदी बाइक रखा है।